एनीमिया, एनीमिया के लक्षण और एनीमिया को दूर करने के घरेलू उपाय .

एनीमिया, एनीमिया के लक्षण और एनीमिया को दूर करने के घरेलू उपाय .
एनीमिया, एनीमिया के लक्षण और एनीमिया को दूर करने के घरेलू उपाय .
एनीमिया:- साधारण भाषा में एनीमिया का मतलब शरीर के अंदर खून की कमी होता है . एनीमिया रोग एक ऐसा रोग है जिसमें शरीर के अंदर खून की बहुत ज्यादा कमी हो जाती है . जिस वजह से लोग काफी कमजोर हो जाते हैं तथा एनीमिया की बीमारी कमजोर लोगों को ही ज्यादा होती है . एनीमिया शरीर में बहुत ज्यादा चोट लगने या किसी वजह से अचानक से शरीर के अंदर खून की कमी हो जाना जैसे कि बवासीर की बीमारी, महिलाओं में ऋतुस्त्राव की बीमारी के कारण ज्यादा मात्रा में रक्त स्त्राव होने की वजह से शरीर के अंदर खून की बहुत ज्यादा कमी हो जाती है . एनीमिया की बीमारी में शरीर के अंदर मुख्य रूप से हिमोग्लोबिन की कमी हो जाती है जिस वजह से शरीर के अंदर सही से खून नहीं बन पाता है . एनीमिया की बीमारी खाने के अंदर विटामिन B12 और शरीर के अंदर आयरन जैसे तत्व की कमी के कारण भी एनीमिया रोग हो जाता है .

एनीमिया के लक्षण

एनीमिया की बीमारी में किसी भी व्यक्ति को शारीरिक रूप से बहुत ज्यादा कमजोरी महसूस होती है . जिस व्यक्ति को एनीमिया का रोग होता है उस व्यक्ति को बैठकर उठने से आंखों के सामने अंधेरा सा छा जाता है . एनीमिया की बीमारी में व्यक्ति को चक्कर आते हैं, सिर में दर्द रहता है, आंखों की रोशनी कमजोर हो जाती है और वह व्यक्ति सीढ़ियां चढ़ने में बहुत ज्यादा परेशानी का सामना करता है . जो लोग एनीमिया की बीमारी के शिकार होते हैं वह लोग अपने अंदर नपुंसकता को महसूस करते हैं . एनीमिया की बीमारी में मरीजों के हाथ पैरों पर सूजन भी आ जाती है . उसकी त्वचा सफेद और पीली पड़ने लगती है तथा उस व्यक्ति को खाना खाने में बिल्कुल भी इंटरेस्ट नहीं होता है .

Also Read :- अस्थमा, अस्थमा के लक्षण और अस्थमा को ठीक करने के घरेलू उपाए .

एनीमिया के अन्य कारण

चिंता या तनाव

अगर कोई व्यक्ति ज्यादातर किसी ना किसी बात की वजह से चिंता या तनाव में रहता है तो उस व्यक्ति को एनीमिया का रोग हो सकता है यानी कि पति के शरीर में खून की कमी हो सकती है .

शराब का सेवन

जो लोग ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन करते हैं अक्सर उन्ही लोगों के शरीर में खून की बहुत ज्यादा कमी पाई जाती है क्योंकि उन लोगों के शरीर में से सभी पोषक तत्व खत्म होने लगते हैं .

किडनी खराब हो जाना

अगर किसी व्यक्ति की किडनी खराब हो जाती है तो उस व्यक्ति को एनीमिया का रोग होना निश्चित है क्योंकि किडनी खराब होने पर शरीर में खाया पिया लगना बिल्कुल बंद हो जाता है तथा शरीर के अंदर विषैले पदार्थ बनने लगते हैं . जिस वजह से किडनी खून को साफ करना तथा खून बनाने की प्रक्रिया को बंद कर देती है .


सही मात्रा में खाना ना खाना

आज के समय में बहुत से ऐसे लोग हैं जो अपने काम के चलते सही से खाना खाना ही भूल जाते हैं . वह लोग अपने काम को इतनी ज्यादा इंपोर्टेंस देते हैं कि वह सही से खाना तक नहीं खा पाते हैं जिस वजह से और लोगों के शरीर में एनीमिया की बीमारी हो जाती है .

लीवर का खराब होना

अगर किसी व्यक्ति का लीवर खराब होने लग जाए तो वह व्यक्ति शारीरिक रूप से बहुत ज्यादा कमजोर हो जाता है . क्योंकि उस व्यक्ति के शरीर में खून बनना एकदम बंद हो जाता है . लीवर हमारी सेहत को अच्छी बनाए रखने के लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होता है क्योंकि लीवर की वजह से ही हमें भूख लगती है और भूख लगने पर ही हम खाना खाते हैं जिस वजह से शरीर के अंदर खून का निर्माण होता है . इसलिए अगर किसी व्यक्ति का लीवर खराब होने लग जाए तो उस व्यक्ति को एनीमिया की बीमारी होना निश्चित है .

एनीमिया की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपाय

टमाटर

एनीमिया के मरीज को हर रोज अपने खाने में 200 ग्राम टमाटर को काटकर उसमें सेंधा नमक डालकर और साथ में थोड़ी सी काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर उसे खाने से बहुत ज्यादा लाभ मिलता है . शरीर के अंदर खून का बहुत जल्दी निर्माण होता है जिस वजह से एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है .

केला

अगर कोई व्यक्ति अपनी एनीमी की बीमारी से हमेशा के लिए छुटकारा पाना चाहता है तो उस व्यक्ति को हर रोज रात को सोते समय एक केले पर चूना लगाकर उसे रख दें . रोज सुबह उठकर उसके लिए को छीलकर खाएं . इस तरह से केले को खाने से एनीमिया की बीमारी से बहुत जल्दी छुटकारा मिल जाता है .

सलाद

एनीमिया की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए हर किसी व्यक्ति को अपने खाने के साथ सलाद का जरूर सेवन करना चाहिए . सलाद में आप खीरा, ककड़ी, प्याज ,चकुंदर, नींबू का रस, मूली और गाजर का सेवन कर सकते हैं . अगर आप हर रोज इन सभी सलाद में से कुछ सलाद अपने खाने के साथ लेते हैं तो आपकी भूख न लगने की बीमारी खत्म हो जाती है और आप भरपेट खाना खाते हैं जिस वजह आपकी एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है .


पालक, मेथी और बथुआ

एनीमिया की बीमारी से जल्द से जल्द छुटकारा पाने के लिए एनीमिया के रोगी को हर रोज नियमित रूप से पालक, मेथी और बथुआ आदि की सब्जी का सेवन करना चाहिए . इससे उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी बहुत जल्दी खत्म हो जाती है और शरीर के अंदर नया खून तेजी से बढ़ने लगता है .

आंवला या सेब का मुरब्बा

शरीर के अंदर खून बढ़ाने के लिए तथा एनीमिया के रोग को जड़ से खत्म करने के लिए अगर कोई व्यक्ति हर रोज सुबह के समय नियमित रूप से 1आंवला का मुरब्बा या 1 सेब का मुरब्बा का सेवन करता है तो उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है तथा शरीर में बहुत ही तेजी से खून बनने लगता है . इसके अलावा आंवला या सेब का मुरब्बा पाचन क्रियागैस, बदहजमी या एसिडिटी तथा अन्य पेट से संबंधित कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है .

बेल के पत्ते

एनीमिया की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए अगर कोई व्यक्ति बेल के ताजे पत्तों के 5 ग्राम रस में एक चुटकी काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर उसका सेवन करता है तो उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है .

नीम के पत्ते

एनीमिया की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए अगर कोई व्यक्ति नीम के ताजे पत्तों का रस निकालकर उसमें थोड़ी सी मिश्री मिलाकर पीता है . तो उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है तथा शरीर के अंदर एक नया खून बनने लगता है .

गन्ने का रस

एनीमिया की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए गन्ने के ताजे 200 ग्राम रेस में आंवले का 5 ग्राम रस और एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से एनीमिया की बीमारी में बहुत ज्यादा लाभ मिलता है . इसके अलावा यह शरीर की इम्यून पावर को भी बढ़ाता है .

अंगूर

अगर कोई व्यक्ति दिन में दो बार सौ ग्राम अंगूर का सेवन करता है तो उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है और शरीर के अंदर नया खून बनने लगता है . इसके अलावा अंगूर हृदय की तेज धड़कनों को कंट्रोल करने के लिए फायदेमंद होता है .

एनीमिया की बीमारी को दूर करने के लिए अन्य उपाय

सेब

अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से हर रोज एक सेब का सेवन करता है तो उस व्यक्ति के शरीर में एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है . इसके अलावा सेव हड्डियों को मजबूत करने, आखो की रोशनी तेज करने और बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है .

मुनक्का

मुनक्के के अंदर भरपूर मात्रा में आयरन और प्रोटीन जैसे तत्व पाए जाते हैं . अगर कोई व्यक्ति रात को सोते समय एक गिलास दूध में चार मुनक्का डालकर उसका सेवन करता है तो उस व्यक्ति के शरीर में खून की कमी की पूर्ति होने लगती है और एनीमिया की बीमारी से छुटकारा मिल जाता है . इसके अलावा मुनक्का पेट से संबंधित कई बीमारियों को जड़ से खत्म करने के लिए लाभकारी होता है .

किशमिश

अपनी एनीमिया की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए अगर कोई व्यक्ति हर रोज रात को सोने से पहले एक कटोरी में 25 ग्राम किशमिश पानी में भिगोकर रख देता है और सुबह खाली पेट किशमिश को चबा चबा कर खा जाता है तो उस व्यक्ति के शरीर में खून बहुत ज्यादा तेजी से बढ़ने लगता है सदा एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है .

Also Read :- योगा करने से क्या क्या फायदे होते है ?yoga benefits in Hindi.

दलिया
दलिया के अंदर भरपूर मात्रा में विटामिंस, मिनरल्स, प्रोटीन, फाइबर, आयरन, कार्बोहाइड्रेट जैसे कई और तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में खून बनाने के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होते हैं . अगर कोई व्यक्ति मीठा दलिया का सेवन नियमित रूप से सुबह नाश्ते में करता है तो उस व्यक्ति के शरीर में खून तेजी से बढ़ने लगता है . और उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है,.


खजूर

खजूर के अंदर भरपूर मात्रा में आयरन जैसे तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में खून बनाने के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी होते हैं . अगर कोई व्यक्ति नियमित रूप से 10 खजूर सुबह धारा 10 खजूर शाम के टाइम खाता है तो उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है .

गुड़ और चना

अपनी एनीमिया की बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए अगर कोई व्यक्ति गुड़ और चने का सेवन नियमित रूप से करता है तो उस व्यक्ति के शरीर में खून बहुत ही ज्यादा तेजी से बनता है . इसके अलावा शरीर की इम्यून पावर भी बढ़ती है तथा शारीरिक कमजोरी भी जड़ से खत्म हो जाती है .

चकुंदर

चकुंदर के अंदर भरपूर मात्रा में आयरन और प्रोटीन जैसे तत्व पाए जाते हैं जो एनीमिया की बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए लाभदायक होते हैं . अगर कोई व्यक्ति चकुंदर का सेवन नियमित रूप से करता है तो उस व्यक्ति की एनीमिया की बीमारी जड़ से खत्म हो जाती है . इसके अलावा चकुंदर आपकी त्वचा को अच्छी बनाए रखता है .

अश्वगंधा

अश्वगंधा एक ऐसा चूर्ण है जिसके अंदर वह सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में खून बनाने के लिए जरूरी होते हैं  अपनी एनीमिया की बीमारी को दूर करने के लिए हर रोज सुबह शाम आधा आधा चम्मच एक गिलास दूध में मिलाकर जरूर पीएं . इसे पीने से नपुंसकता की बीमारी भी जड़ से खत्म हो जाएगी तथा शरीर के अंदर खून की वृद्धि होने लगेगी .

तनाव कम लेना

एनीमिया की बीमारी से बचने के लिए आपको किसी भी बात का तनाव नहीं लेना चाहिए . क्योंकि तनाव लेने से शरीर के अंदर बीमारियां उत्पन्न होने लग जाती हैं . इसलिए तनाव से जितना ज्यादा दूर रहेंगे उतना आपकी सेहत के लिए अच्छा होगा .

आम

अपनी एनीमिया की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए आपको पके हुए आम के गूदे को निकाल कर उसे दूध के साथ अच्छी तरह से मिलाकर पीना चाहिए . इसे पीने से शरीर के अंदर बहुत ही ज्यादा तेजी से खून बनने लगता है और एनीमिया की बीमारी दूर हो जाती है .

Also Read:- नीम के ऐसे फायदे आपने पहले कभी नहीं सुने होंगे. You have never heard of such benefits of Neem.

Previous
Next Post »