एलोवेरा के 19 बेहतरीन कारगर फायदे.

एलोवेरा के 19 बेहतरीन कारगर फायदे.
एलोवेरा के 19 बेहतरीन कारगर फायदे.
एलोवेरा:- एलोवेरा को एक औषधि के रूप में जाना जाता है इसका उपयोग हम प्राचीन काल से ही कर रहे हैं . एलोवेरा एक संजीवनी बूटी की तरह कई रोगों का इलाज कर सकती है और उनके इलाज के लिए इसका इस्तेमाल भी किया जाता है . एलोवेरा को दोस्तों ग्वारपठाघृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता है . एलोवेरा के बहुत से फायदे की वजह से इसे एक चमत्कारी पौधा भी कहते हैं . एलोवेरा की लगभग 200 से अधिक प्रजातियां होती है .एलोवेरा का जो पौधा होता है उसके पत्तों में जो रस होता है वह एलोवेरा का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है . एलोवेरा के रस के अंदर रासायनिक तत्वों के गुण भी पाए जाते हैं जो सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी होते हैं .
इसके अलावा एलोवेरा में अमीनो एसिडविटामिन और खनिज जैसे तत्व पाए जाते हैं . एलोवेरा के अंदर 12 विटामिन होते हैं तथा 18 अमीनो एसिड होते हैं, 20 खनिज होते हैं तथा 75 पोषक तत्व इसके अंदर पाए जाते हैं . और सबसे अच्छी बात यह है कि एलोवेरा के अंदर 200 से ज्यादा सक्रिय एंजाइम तत्व पाए जाते हैं . और इसी वजह से ही एलोवेरा के पौधे को संजीवनी का दर्जा भी दिया जाता है . इसके अलावा अगर हम इसके रासायनिक गुणों की बात करें तो इसके अंदर भरपूर मात्रा में कैल्शियम, ज़िंक, कॉपर, मैग्नीशियम, पोटैशियम, आयरन और सोडियम जैसे तत्व जबरदस्त मात्रा में पाए जाते हैं . तो चलिए जान लेते हैं कि एलोवेरा हमारे शरीर के लिए किस तरह फायदेमंद होता है तथा यह किस किस बीमारी को दूर करने के लिए काम आता है .

एलोवेरा के फायदे

1. इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में फायदेमंद

एलोवेरा शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में फायदेमंद होता है इसके अलावा यह वातावरण में हो रहे बदलावों को यह कम करता है .आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हमारे गलत खानपान की वजह से हमारे शरीर के अंदर के पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए एलोवेरा बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है तथा यह शरीर के विषैले पदार्थों को बाहर निकालकर शरीर को अंदर से स्वस्थ बनाए रखता है . अगर आप एलोवेरा का सेवन करना चाहते हैं तो आप इसका जूस के रूप में सेवन कर सकते हैं .

2. पेट से संबंधित बीमारियों को दूर करता है

अगर किसी व्यक्ति को गैस से संबंधित या पाचन से संबंधित या कब्ज से संबंधित कोई परेशानी होती है तो उस व्यक्ति को हर रोज 20ml एलोवेरा के जूस में एक चम्मच शहद और थोड़ा सा नींबू मिलाकर एलोवेरा के जूस को अच्छी तरह से मिक्स करके पी लेना चाहिए . एलोवेरा के जूस को पीने से आपके पेट से संबंधित जितने भी बीमारियां होती है वह सभी बहुत जल्द खत्म हो जाती है . इसके अलावा अगर किसी छोटे बच्चे को कब्ज से संबंधित कोई बीमारी हो तो उस छोटे बच्चे की नाभि के चारों ओर एलोवेरा में थोड़ा सा हींग मिलाकर लगा देने से उस छोटे बच्चे की कब्ज की परेशानी खत्म हो जाती है .

3. लीवर के लिए फायदेमंद
अगर किसी व्यक्ति का लीवर कमजोर है या फिर उसे लीवर की कोई बीमारी है तो उस व्यक्ति को एलोवेरा का रस एलोवेरा का जूस का सेवन जरूर करना चाहिए क्योंकि एलोवेरा के जूस लीवर के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है . इसके अलावा एलोवेरा शरीर के अंदर की प्रतिरोधक प्रणाली को स्वस्थ बनाने का काम भी एलोवेरा ही करता है .

4. चुस्ती और फुर्ती के लिए फायदेमंद

अगर किसी व्यक्ति को अपने शरीर में ज्यादा थकावट या फिर आलस पन महसूस होता है तो उस व्यक्ति को एलोवेरा जूस जरूर पीना चाहिए . क्योंकि एलोवेरा जूस के अंदर भरपूर मात्रा में रोग प्रतिरोधक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के अंदर की सभी बीमारियों को खत्म करने के लिए फायदेमंद होते हैं . अगर आप एलोवेरा का जूस नियमित रूप से पीते हैं तो आप हर रोज पूरे दिन अपने में चुस्ती और फुर्ती महसूस करते हैं ,.

5. हृदय के लिए फायदेमंद

अगर किसी व्यक्ति के हृदय की मांसपेशियां कमजोर है या फिर उस व्यक्ति को हृदय का कोई रोग है तो उस व्यक्ति को एलोवेरा का जूस का सेवन जरूर करना चाहिए . एलोवेरा के अंदर भरपूर मात्रा में वे सभी तत्व पाए जाते हैं जो हृदय की मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए फायदेमंद होते हैं तथा एलोवेरा के जूस पीने से हृदय के सभी रोग खत्म हो जाते हैं .

6. मोटापे को कम करने के लिए

एलोवेरा के अंदर भरपूर मात्रा में फाइबर जैसे गुण भी पाए जाते हैं शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ा देते हैं और शरीर की अतिरिक्त चर्बी को कम करने के लिए अंदर से काम करना शुरू कर देते हैं . इसलिए अगर किसी व्यक्ति को अपने बढ़ते हुए वजन से छुटकारा पाना है तो उस व्यक्ति को हर रोज 20ml एलोवेरा जूस का सेवन जरूर करना चाहिए .

7. कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए

एलोवेरा शरीर के अंदर के कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी माना जाता है . यह शरीर के अंदर की रक्त वाहिनियों को अंदर से साफ करके बेड कोलेस्ट्रोल को खत्म कर देता है . और खून को अंदर से शुद्ध करता है .

8. जोड़ों के दर्द के लिए फायदेमंद

आज के समय में बहुत से लोग में जोड़ों के दर्द, बदन दर्द ,गठिया रोग, हाथ पैरों में सूजन आदि जैसे रोग उत्पन्न हो रहे हैं . इन सभी बीमारियों को खत्म करने के लिए सटीक इलाज एलोवेरा के अंदर पाया गया है . गठिया का दर्द या जोड़ों के दर्द मैं आराम पाने के लिए अगर कोई व्यक्ति एलोवेरा के पत्ते को फाड़ कर उसमें थोड़ी सी हल्दी मिलाकर उसे हल्का सा गर्म करके गठिया की दर्द वाली जगह पर लगाने से गठिया के दर्द में बहुत ही ज्यादा आराम मिलता है .अपने गठिया के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आपको यह प्रयोग कम से कम 10 से 15 दिनों तक जरूर करना है तभी आपको अपने घटिया या जोड़ों के दर्द की समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा मिल सकता है .

Also Read:- नीम के ऐसे फायदे आपने पहले कभी नहीं सुने होंगे

9. मुंह के छालों के लिए यह मुंह के सफाई के लिए फायदेमंद

एलोवेरा का जूस मुंह की सफाई या मुंह के छालों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है . अगर कोई व्यक्ति एलोवेरा के जूस से कुल्ला करता है तो उस व्यक्ति की मुँह की परेशानी दूर होती है इसके अलावा मुंह की दुर्गंध भी खत्म हो जाती है .

10. सर्दी, खांसी और जुखाम में फायदेमंद

अगर किसी व्यक्ति या बच्चे को सर्दी, खांसी या जुकाम की समस्या या बीमारी है तो वह व्यक्ति या बच्चा को एलोवेरा के रस में 5 ग्राम शहद मिलाकर दिन में दो बार देने से उसकी सर्दी, खांसी और जुखाम जैसे बीमारियां जड़ से खत्म हो जाती है तथा वह स्वस्थ रहता है .

11. कैल्शियम की कमी को दूर करता है

एलोवेरा का जो गोदा होता है उसके अंदर भरपूर मात्रा में कैल्शियम और फास्फोरस जैसे तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में कैल्शियम की कमी को पूरा करते हैं . इसके अलावा अगर किसी व्यक्ति की हड्डियां कमजोर है तो उसे एलोवेरा के गूदे का सेवन जरूर करना चाहिए .

12. स्किन के लिए फायदेमंद

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि बाजार में बहुत सारे ऐसे प्रोडक्ट है जिसके अंदर एलोवेरा का उपयोग किया जाता है लेकिन उन सभी प्रोडक्ट में कुछ ना कुछ केमिकल का यूज जरूर किया जाता है जो आपकी स्किन के लिए हानिकारक हो सकते हैं . लेकिन अगर आप एलोवेरा का प्राकृतिक रूप से इस्तेमाल करते हैं तो वह आपके लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है इसके अलावा एलोवेरा आपके चेहरे के निखार को बढ़ाता है और चेहरे के दाग धब्बों को भी खत्म कर देता है .

13. शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए

अगर कोई व्यक्ति अपनी शारीरिक कमजोरी की वजह से बहुत ज्यादा परेशान है तो उस व्यक्ति को एलोवेरा का गूदा निकालकर उसमें एक चम्मच शहद मिला कर लेता है तो उस व्यक्ति की शारीरिक कमजोरी खत्म हो जाती है .क्योंकि एलोवेरा के अंदर भरपूर मात्रा में एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल जैसे तत्व पाए जाते हैं इसलिए यह घाव को भी बहुत ही ज्यादा जल्दी भरता है और शरीर के अंदर चुस्ती और फुर्ती बनाए रखता है .

14. बालों के लिए फायदेमंद

अगर किसी व्यक्ति या महिला के बाल बहुत ज्यादा झड़ रहे हैं तो उन्हें हर रोज 10 ग्राम एलोवेरा के गूदे का सेवन जरूर करना चाहिए . एलोवेरा बालों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है यह बालों को घना और काला बनाता है .

Also Read:- Anulom Vilom, Anulom Vilom 20 Benefits in Hindi

15. आंखों के लिए फायदेमंद

दोस्तों अगर आप एलोवेरा के 10 ग्राम रस को थोड़ा सा आंवला और जामुन के रस के साथ मिलकर लेते है तो यह आपकी आंखों की रोशनी को तेज करने के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है .

16. दांतों और मसूड़ों के लिए फायदेमंद

अगर कोई व्यक्ति अपने दांतों के मसूड़ों की समस्या से बहुत ही ज्यादा परेशान है तो उस व्यक्ति को हर रोज एलोवेरा का जूस का सेवन करना चाहिए . इसके अलावा वह एलोवेरा के जूस से कुल्ला भी कर सकता है . एलोवेरा का जूस दांतो के लिए फायदेमंद होगा .

18. डायबिटीज की बीमारी में फायदेमंद

एलोवेरा के अंदर भरपूर मात्रा में फाइबर जैसे तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में ग्लूकोस लेवल को कम कर के शरीर के अंदर की इंसुलिन की मात्रा को बढ़ा देते हैं . जिससे शरीर में डायबिटीज की मात्रा कम हो जाती है तथा अगर आप एलोवेरा का जूस नियमित रूप से सेवन करते हैं तो धीरे-धीरे आपके शरीर में डायबिटीज कम होने लगती है .

19. कैंसर सेल्स को रोकने के लिए फायदेमंद

एलोवेरा के अंदर भरपूर मात्रा में वे सभी तत्व पाए जाते हैं जो शरीर में कैंसर सेल्स को पनपने से पहले ही खत्म कर देते हैं . एलोवेरा शरीर में कैंसर जैसी बीमारी को होने से रोकता है .
नोट
सबसे ज्यादा ध्यान में रखने वाली बात:- एलोवेरा की तासीर गर्म होती है इसलिए इसे गर्भवती महिलाओं को सेवन नहीं करना चाहिए . यह गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ही ज्यादा हानिकारक हो सकता है .

Also Read:- Kapalbhati Pranayam and 12 Best benefits of Kapalbhati Pranayam 
Previous
Next Post »