लकवा की बीमारी को ठीक करने के जबरदस्त घरेलू उपाय

लकवा की बीमारी को ठीक करने के जबरदस्त घरेलू उपाय
लकवा की बीमारी को ठीक करने के जबरदस्त घरेलू उपाय
लकवा क्या होता है?:- लकवा की बीमारी में व्यक्ति के शरीर का किसी अंग की मांसपेशियों का पूर्ण रूप से कार्य न कर पाना पैरालिसिस या लकवा मारना या पक्षाघात कहते हैं . लकवा की बीमारी को पूर्ण रूप से सही किया जा सकता है .
लकवा की बीमारी को ठीक है किया जा सकता है लेकिन मरीज अगर हिम्मत ना हारे तो पैरालिसिस अटैक कभी भी आ सकता है जब उसकी संवेदना कमजोर होगी तो लकवा का सही समय पर इलाज ना होने से रोगी एक अपाहिज की जिंदगी जीने को मजबूर हो जाता है, इसलिए समय पर ही लकवा की बीमारी का इलाज करना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है .
आयुर्वेद के तरीके से लकवा की बीमारी को बहुत ही आसानी से ठीक किया जा सकता है . आप लोगों ने बाबा रामदेव का नाम तो सुना ही होगा जो पहले लकवा के मरीज थे लेकिन उन्होंने इन उपायों को नियमित रूप से अपनाया जिस वजह से उनके लकवा की बीमारी ठीक हुई . इसलिए यह उपाय लंबे समय तक लगातार करने से ही फायदा देंगे इन उपायों को करते समय आपको थोड़ा सब्र रखने की जरूरत होती है .

लकवा का कारण

1. शारीरिक क्षमता से ज्यादा से ज्यादा काम करना या बिल्कुल ना करना यह एक लकवा का कारण होता है .
2. कोई पुराना कारण जो किसी विशेषज्ञ की मसल्स को कमजोर कर रहा हो जैसे कि कोई पुरानी चोट, दिमागी न्यूरॉन्स का डिसबैलेंस होना .
3. ज्यादा मात्रा में यौन संबंध करना भी लकवा होने का कारण होता है .
4. बचपन से ही मांसपेशियों का कमजोर होना भी लकवा होने का कारण होता है .
5. दिमागी टेंशन या फिर मस्तिष्क में खून का फटना, रुकना .
6. शरीर के किसी हिस्से में खून का थक्का बनना या फिर खून का जमा हो जाना . शुरुआत में यह खून के थक्के जमने जैसा होता है लेकिन बाद में यह धीरे-धीरे लकवा का रूप ले लेता है . लकवा आपके शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है जैसे कि हाथ में, पैर में, चेहरे पर आदि . अगर इसका तुरंत इलाज ना किया जाए तो वह व्यक्ति सारी उम्र इस लकवे  की बीमारी के साथ ही जीता है.

लकवा के लक्षण

1. जिन लोगों को लकवा की बीमारी हो जाती है उन लोगों के शरीर के एक तरफ के सभी अंग काम करना बंद कर देते हैं जैसे बाएं पैर या बाएं हाथ का काम ना कर पाना .
2. लकवा की बीमारी में इन अंगों की दिमाग तक चेतना पहुंचना ही बंद हो जाती है . जिस वजह से आपका दिमाग आपके शरीर को सही तरह से संकेत पहुंचाने में असमर्थ हो जाता है और आपके उसी तरफ के हिस्से के हाथ पैर काम करना बंद कर देते हैं .
3. लकवा की बीमारी की वजह से अंगों का टेढ़ापन शरीर में गर्मी की कमी कुछ याद रखने की क्षमता भी खत्म हो जाती है .

लकवा की बीमारी को ठीक करने के आयुर्वेदिक उपचार

1. खजूर

लकवा की बीमारी को ठीक करने के लिए अगर कोई व्यक्ति हर रोज 5 से 6 खजूर दूध में मिलाकर लेता है तो उसकी लकवे की बीमारी बहुत जल्दी ठीक होने लगती है .

2. सोंठ  

लकवा की बीमारी को दूर करने के लिए सोंठ और उड़द को पानी में मिलाकर हल्की आंच में गर्म करके मरीज को हर रोज उस पानी को पिलाने से लकवा की बीमारी ठीक हो जाती है .

3. नाशपाती, सेब और अंगूर

नाशपाती, सेब और अंगूर का रस बराबर मात्रा में एक गिलास में मिला लें और मरीज को उस रस को पिलाते रहें कुछ समय इस रस को पिलाने से ही लकवा की बीमारी में बहुत ही ज्यादा फायदा मिलता है .

4. काली मिर्च

एक चम्मच काली मिर्च को पीसकर तीन चम्मच देसी गाय के घी में मिलाकर लेप बना ले और जिस अंग में लकवा हुआ है वह संघ की हल्के हाथ से मालिश करें. ऐसा करने से लकवा वाला अंग जल्दी ठीक होगा और लकवा की बीमारी भी ठीक हो जाएगी .

5. करेला

जो लोग लकवा की बीमारी से ग्रसित रहते हैं अगर वे लोग हर रोज नियमित रूप से करेली की सब्जी या करेले के रस को पीते हैं तो उन लोगों के लकवा की बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक हो जाती है और लकवा वाले अंग भी ठीक हो जाते हैं .

6. प्याज

लकवा की बीमारी में प्याज का सेवन जरूर करें क्योंकि प्याज के अंदर कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो लकवा की बीमारी को ठीक करने में बहुत ही ज्यादा लाभदायक होते हैं .

7. काली लहसुन

लकवा की बीमारी को ठीक करने के लिए 6 काली लहसुन को पीसकर एक चम्मच मक्खन में मिला लें और रोज इसका सेवन करें ऐसा करने से आपकी लकवा की बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक हो जाएगी .

8. तुलसी के पत्ते, दही और सेंधा नमक  

तुलसी के पत्ते,दही और सेंधा नमक को मिलकर उसका लेप करने लकवा की बीमारी में फायदा मिलता है . यह उपाय लंबे समय तक करना होगा तभी आपको इसका ज्यादा अच्छा benefit मिल पाएगा .

9. गरम पानी

गरम पानी में कुछ तुलसी के पत्तों को उबालें और उसकी भाव लकवे वाले अंगों पर देते रहने से लकवा बहुत ही जल्दी ठीक होता है .

10. सरसों का तेल और लहसुन

आधे लीटर सरसों के तेल में 50 ग्राम लहसुन डालकर उसे अच्छी तरह से पका लें . अब इसे ठंडा करके तेल निचोड़ लें और एक डब्बे में रख ले . हर रोज नियमित रूप से इस तेल से लकवा वाले अंगों की मालिश करें . ऐसा करने से यह बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक हो जाती है साथ ही बदन में आपके ताकत भी आने लगती है .

11. सेंधा नमक और काला नमक

एक चौथाई चम्मच सेंधा नमक और एक चौथाई चम्मच काला नमक को पानी में मिलाकर लकवे के मरीज को पिलाते रहने से उस मरीज के लकवा की बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक होने लगती है .

12. तिल का तेल और कलौंजी

आधा लीटर तिल का तेल लें और उसमें 50 ग्राम कलौंजी मिला करो उसे धीमी आंच पर गर्म कर लें और जब वह गर्म हो जाए तो उसे ठंडा करके किसी कांच की शीशी में भरकर रख दे . और हर रोज दिन में दो बार लकवा वाली जगह पर इस तेल से मालिश करें .

13. लहसुन वाला दूध

लकवा की बीमारी को बहुत ही जल्दी ठीक करने के लिए लहसुन वाला दूध पीना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है यह सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है साथ ही यह लकवा की बीमारी को भी बहुत ही जल्दी ठीक करता है .

14. अकर्करा और शहद

अकर्करा एक जड़ी बूटी होती है जो आपको किसी भी आयुर्वेदिक वाली दुकानों पर आसानी से मिल जाएगी . आपको अकर्करा लेनी है और उस को पीसकर उसका पाउडर बना लेना है . अब आधा ग्राम अकर्करा को एक चम्मच शहद के साथ दिन में दो बार लेने से लकवा की बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक होगी साथ ही यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होगी .

लकवे की बीमारी को ठीक करने के योगासन

1. अनुलोम विलोम योगासन

लकवा की बीमारी को ठीक करने के लिए अनुलोम विलोम योगासन बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है . यह शरीर के ब्लड सरकुलेशन को बहुत ही अच्छी तरह से नियंत्रित करता है साथ ही यह आपके दिमाग को Fresh Oxigen पहुंचाता है . जिस वजह से यह बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक होती है . इसके अलावा अनुलोम विलोम आसन के बीमारियों को ठीक करने के लिए तथा मानसिक तनाव को दूर करने के लिए भी बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है .

2. सुखासन

सुखासन एक बहुत ही ज्यादा उपयोगी और लाभदायक आसन है . इसे करने के लिए आप अपनी दोनों पैरों को मोर ले और दोनों एड़ियों को अपनी जांघों के नीचे लेकर आ जाए और अपनी रीढ़ की हड्डी को एकदम सीधा रखें . इसके बाद अपने दोनों हाथों को अपने दोनों पैरों पर एक के ऊपर एक रखे इसके बाद एक लंबी सांस लें और धीरे-धीरे छोड़ें ऐसा करने से आपका लकवा बहुत ही जल्दी ठीक हो जाएगा .
सुखासन
सुखासन

3. प्राणायाम और कपालभाति

लकवा की बीमारी को ठीक करने के लिए हर रोज सुबह के समय 10 से 20 मिनट प्राणायाम और कपालभाति करें . ऐसा करने से यह बीमारी बहुत ही जल्दी ठीक होती है और आपका शरीर भी फिट रहता है .
Previous
Next Post »