लिवर कैंसर के लक्षण, कारण, इलाज, दवा, उपचार.

लिवर कैंसर के लक्षण, कारण, इलाज, दवा, उपचार.
लिवर कैंसर के लक्षण, कारण, इलाज, दवा, उपचार.
लिवर कैंसर एक प्रकार का कैंसर है जो लिवर में शुरू होता है। कुछ कैंसर लिवर के बाहर विकसित होते हैं और लीवर के अंदर फैलते हैं। हालांकि, लिवर में शुरू होने वाले कैंसर को लिवर कैंसर के रूप में बताया जाता है।
लिवर कैंसर का कैंसर की बीमारी में पांचवा स्थान होता है . आंकड़ों के अनुसार 10 में से दो व्यक्ति को लीवर से संबंधित बीमारियां हो रही है . लिवर, जो सही फेफड़ों के नीचे और रिबकेज के नीचे स्थित है, मानव शरीर के सबसे बड़े अंगों में से एक है।यह शरीर से विषैले पदार्थों को हटाने के सहित कई तरह के कार्य करता है, और यह किसी भी व्यक्ति के जीवित रहने के लिए महत्वपूर्ण है।
लिवर कैंसर में लिवर पर या घातक हेपेटिक ट्यूमर होते हैं।
अमेरिका में, लगभग 22,000 व्यक्ति और 9, 000 महिलाओं को हर साल लिवर कैंसर का इलाज किया जाता है। हर साल लगभग 17,000 व्यक्तियों और 8,000 महिलाओं में लिवर कैंसर पाया जाता है।

Fast facts on liver cancer

लिवर कैंसर से पीड़ित लोग कम जीवित रहते हैं .
लिवर कैंसर उन लोगों का सबसे ज्यादा होता है जो लोग शराब का सेवन करते हैं और उन्हें हेपेटाइटिस और डायबिटीज  बीमारियां होती हैं।
आम तौर पर कैंसर ज्यादा बड़ा होने तक उसके लक्षण सामने नहीं आते हैं .
लिवर कैंसर के लिए इलाज के विकल्पों में सर्जरी और लिवर ट्रांसप्लांट शामिल है।

Symptoms

लिवर कैंसर की बीमारी तब तक सामने नहीं आती है जब तक वह बहुत ज्यादा बड़ी ना हो जाए इसलिए आपको लीवर कैंसर के होने वाले इन लक्षणों पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए .

लिवर कैंसर निम्नलिखित लक्षण

पीलिया

अगर किसी व्यक्ति को बार बार पीलिया यानी ज्वाइंडिस की बीमारी होती है तो उस व्यक्ति को अपने लिवर कैंसर की जांच जरूर करानी चाहिए . लीवर कैंसर का यह एक बहुत बड़ा और मुख्य कारण हो सकता है .

 पेट में दर्द

अगर किसी व्यक्ति को पेट के दाहिने तरफ आए दिन दर्द होता रहता है तो उस व्यक्ति को अपने लिवर कैंसर की तुरंत जांच करानी चाहिए .क्योंकि लिवर कैंसर होने का यह भी एक मुख्य कारण है .

अस्पष्ट वजन घटाने

अगर किसी व्यक्ति का वजन बहुत ही ज्यादा तेजी से घट रहा है और वह अपने अंदर नपुंसकता को महसूस कर रहा है . तो उस व्यक्ति को अपने लीवर की जांच जरूर करानी चाहिए .

एक बड़ा लिवर

अगर किसी व्यक्ति का लीवर बढ़ रहा है यानी कि उस व्यक्ति का लीवर का फैट बढ़ रहा है तो उस व्यक्ति को अपने लीवर के कैंसर की जांच जरूर करानी चाहिए और अपने डॉक्टर से तुरंत सलाह लेनी चाहिए .

थकान

अगर किसी व्यक्ति को बहुत ही ज्यादा जल्दी थकान महसूस होती है या फिर वह थोड़ा सा काम करते ही थक जाता है तो उस व्यक्ति को अपने लीवर की तुरंत जांच करानी चाहिए क्योंकि यह भी लीवर कैंसर होने का एक कारण हो सकता है .

जी मिचलाना

जी मिचलाना एक आम बात है लेकिन अगर किसी व्यक्ति को यह समस्या बहुत ज्यादा हो रही है तो उस व्यक्ति को अपने लीवर की जांच जरूर करानी चाहिए .

उल्टी

उल्टी आना कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है लेकिन अगर किसी व्यक्ति को बिना वजह के उल्टी आती है तो उस व्यक्ति को अपने लीवर कैंसर की तुरंत जांच करानी चाहिए .

पीठ दर्द

पीठ दर्द भी लीवर कैंसर का एक कारण हो सकता है इसलिए अगर किसी व्यक्ति या महिला को पेट दर्द बहुत ज्यादा होता है तो उसे लीवर कैंसर या लीवर की जांच जरूर करानी चाहिए .

खुजली

शरीर में बिना वजह के खुजली हो जाना भी लीवर कैंसर का एक लक्षण होता है इसलिए इस समस्या को नजरअंदाज ना करें और तुरंत अपने नजदीकी चिकित्सक से सलाह लें .

इन 5 तरह के लोगों को लिवर कैंसर की बीमारी सबसे ज्यादा होती है .

ज्यादा शराब का सेवन करने वाले हैं

ज्यादा शराब पीने से लीवर सिरोसिस की बीमारी हो सकती है जो आगे चलकर लिवर कैंसर की बीमारी में बदल जाती है .

हेपेटाइटिस बी बीमारी

जिन लोगों को हेपेटाइटिस बी और सी की बीमारी होती है . जिसके कारण लीवर बहुत ही ज्यादा बुरी तरह से डैमेज हो सकता है और यही बीमारी लीवर कैंसर की बीमारी में बदल जाती है .

किडनी की बीमारी वाले व्यक्तियों को

जो लोग आए दिन डायलिसिस या फिर जिन लोगों को किडनी की बीमारी होती है उन लोगों में लीवर कैंसर का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है .

डायबिटीज वाले मरीजों में

डायबिटीज वाले मरीजों में अभी लीवर का कैंसर का खतरा बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है .


ज्यादा मोटे व्यक्तियों में

जो लोग ज्यादा मोटे होते हैं उनके मोटापे की वजह से लीवर में फैट बढ़ सकता है और यही एक वजह है जिस वजह से उन लोगों में लिवर कैंसर की बीमारी हो सकती है . यह है वह पांच लोग जिनमें लिवर कैंसर होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है .

लीवर कैंसर को ठीक करने के आयुर्वेदिक घरेलू इलाज

अगर किसी व्यक्ति का लीवर कैंसर शुरुआती चरण में है तो उस व्यक्ति का लिवर कैंसर उपायों से ठीक किया जा सकता है .

मांस मछली का सेवन बंद करें

अगर किसी व्यक्ति को लिवर कैंसर है तो उस व्यक्ति को मांस मछली का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए क्योंकि मांस, मछली लीवर के लिए बहुत ही ज्यादा नुकसानदायक होते हैं . और यह लीवर कैंसर को बढ़ावा देने के लिए सबसे ज्यादा जिम्मेदार होते हैं .

ज्यादा से ज्यादा पानी पिए

लीवर को साफ और शुद्ध रखने के लिए आप को साफ और शुद्ध पानी का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए .

शराब का सेवन बंद कर दें

अगर किसी व्यक्ति को लीवर कैंसर है तो उस व्यक्ति को शराब का सेवन या धूम्रपान का सेवन तुरंत बंद कर देना चाहिए क्योंकि शराब औरधूम्रपान लीवर के कैंसर को सबसे ज्यादा बढ़ावा देते हैं .

ज्यादा से ज्यादा फल और हरी सब्जियों का सेवन करें

लिवर कैंसर की बीमारी से छुटकारा पाने के लिए व्यक्ति को ज्यादा से ज्यादा फल और हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए .

लहसुन का सेवन

लहसुन के अंदर काफी मात्रा में सल्फर कंपाउंड पाया जाता है जो लीवर कैंसर या कैंसर को ठीक करने के लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी होता है . इसलिए हो सके तो सुबह के समय खाली पेट 2 लहसुन की कलियों का सेवन जरूर करें .

ग्रीन टी

ग्रीन टी के अंदर भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो आपके शरीर और लीवर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होते हैं . अगर आप लीवर के कैंसर से बचना चाहते हैं तो आपको ग्रीन टी का सेवन जरूर करना चाहिए .

पपीता के पत्ते

लीवर कैंसर को ठीक करने के लिए आप पपीते के पत्तों का भी उपयोग कर सकते हैं . लिवर कैंसर से बचने के लिए आप दिन में तीन से चार बार पपीते के पत्ते की चाय पिए .
पपीते के पत्ते की चाय बनाने के लिए आप सबसे पहले पपीते के पत्तों को धूप में अच्छी तरह से  सुखा लें और उन्हें छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ कर 300 से 400 एम एल पानी में डालकर उबालें . उस पानी को इतना वाले कि वह आधा रह जाए .  और उस पानी को ऐसा करके दिन में दो से तीन बार पीना है . अगर कोई व्यक्ति इसी तरह के पपीते के पत्ते की चाय 3 महीने तक लगातार पीता है तो उस व्यक्ति का लीवर का कैंसर बहुत ज्यादा हद तक कम हो जाता है .
पपीते के ताजे पत्तों को लेकर उसे अच्छी तरह से हाथ से मसलकर उसका रस निकालकर 125 पानी में मिलाकर उसे दिन में दो से तीन बार पीने से लीवर कैंसर में बहुत ही ज्यादा फायदा मिलता है .


ज्यादा कैलोरी वाला भोजन

लिवर कैंसर की बीमारी में व्यक्ति को भूख बहुत ही कम लगती है इसलिए उस व्यक्ति को ज्यादा कैलरी वाले खाने का सेवन करना चाहिए और खाने का सेवन तभी करना चाहिए जब उसे बहुत ज्यादा तेज भूख लग रही हो .

करेले का जूस

लीवर कैंसर को खत्म करने के लिए करेले का जूस बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है . अगर कोई व्यक्ति हर रोज सुबह के समय खाली पेट करेले के जूस का सेवन करता है तो उस व्यक्ति को लीवर कैंसर या कैंसर के जैसी घातक बीमारी से छुटकारा मिल जाता है .

लिवर कैंसर को ठीक करने के अन्य उपाय

सर्जरी

लिवर कैंसर को ठीक करने का एक उपाय सर्जरी है . इसमें अगर किसी व्यक्ति को शुरुआती चरण में लिवर कैंसर होता है तो उस व्यक्ति कि उस हिस्से की सर्जरी करके कैंसर को बाहर निकाल दिया जाता है .

लेजर

लेजर के द्वारा भी लीवर कैंसर को जड़ से खत्म किया जा सकता है

रेडियो एक्टिव वेव 

रेडियो एक्टिव वेब से भी लीवर कैंसर को अंदर ही अंदर जला दिया जाता है यह भी एक लीवर कैंसर को खत्म करने का बहुत ही अच्छा उपाय है .

लिवर ट्रांसप्लांट

अगर किसी व्यक्ति का लीवर कैंसर आखरी स्टेज यानी की चौथी स्टेज पर है तो उस व्यक्ति के लिए सबसे ज्यादा अच्छा उपाय यह रहता है कि वह अपने लीवर का ट्रांसप्लांट करवा सकता है .लेकिन इसके अंदर भी कैंसर 5 सेंटीमीटर से बड़ा नहीं होना चाहिए तभी लीवर ट्रांसप्लांट सही रूप से किया जा सकता है .
Previous
Next Post »