हलासन करने से होते है ये 16 गजब फायदे

हलासन करने से होते है ये 16 गजब फायदे
हलासन करने से होते है ये 16 गजब फायदे

हलासन क्या होता है?:- हलासन दो शब्दों से मिलकर बना है एक हल और दूसरा आसन, इसका मतलब होता है हल की तरह दिखने वाला आसन, इसलिए इसे हलासन कहते हैं . यह आसन किसान की हल्की तरह दिखता है और हलासन के कई फायदे होते हैं . इसे अंग्रेजी में Plow Pose भी कहते हैं . यह आसन मोटापे को कम करते हुए, डायबिटीज, थायराइड की बीमारी को दूर करने के लिए बहुत ही लाभदायक होता है . इस आसन से गर्दन लचीली और वजन कम होता है .

हलासन बहुत ही प्राचीन समय में तिब्बत और भारत में किया जाता था लेकिन कुछ समय बाद यह अलग-अलग देशों में प्रसिद्ध होता गया . इस योग मुद्रा से पेट के अंगों में खून का प्रवाह बढ़ जाता है और थायराइड टाइम पैरा थायराइड ग्रंथियों को भी उत्तेजित करता है . यह आसन दिखने में जितना सरल लगता है इतना सरल होता नहीं है क्योंकि इस आसन को करने में थोड़ी परेशानी होती है . अगर कोई व्यक्ति के शासन को सही ढंग से करता है तो उस व्यक्ति को इसका फायदा भी जरूर मिलता है . तो आइए आपको हलासन से होने वाले लाभ के बारे में विस्तार से बताते हैं .

हलासन को करने का तरीका

  • दोस्तों हलासन करने के लिए आप लोग सब से पहले या तो कोई चटाई ले ले या फिर आप फर्श में भी अपनी पीठ के बल लेट सकते हैं . इसके बाद आपको अपने दोनों हाथों को बिल्कुल सीधे आराम से जमीन पर रखना है .
  • अब इस आसन को करने के लिए लंबी सांस लेते हुए अपने पेट की मांसपेशियों के सहारे से अपने दोनों पैरों को आराम से फर्श से उठाएं और दोनों पैरों को 90 डिग्री के कोण में खड़े रखें .
  • इसके बाद अब अपने दोनों पैरों को अपने सिर के ऊपर ले जाएं और 180 डिग्री का कोण बनाने की कोशिश करें अपने दोनों पैरों को आपको तब तक मोड़ना है जब तक आपके दोनों पैर आपके सिर के पीछे फर्श पर नहीं लग जाते .
  • इस आसन को करते वक्त आपकी पीठ फर्श पर एकदम सखी रहनी चाहिए . शुरुआत में इस आसन को करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है लेकिन जब आप ऐसा नियमित रूप से करेंगे तो आप इसे आसानी से कर पाएंगे .
  • इस आसन को बहुत ही प्यार से और आराम से करें और साथ में इस बात का जरूर ध्यान रखें कि हलासन को करते वक्त आप अपनी गर्दन पर बिल्कुल भी दबाव ना डालें और ना ही इससे जमीन की ओर धक्का देना है .
  • अब आपको अपनी वापस उसी अवस्था में आना है जिस अवस्था में आप शुरुआत में थे और थोड़ी देर के लिए अपने शरीर को आराम दें और सांस लेते रहे .
हलासन को करते वक्त इन सावधानियों का जरूर ध्यान रखें और अपने मन से इस आसन में कोई बदलाव ना करें . हलासन को इन्हीं स्टेप से आराम से जरूर करें अगर कोई व्यक्ति हलासन को गलत तरीके से करता है तो उस व्यक्ति की गर्दन और मांसपेशियों में खिंचाव भी आ सकता है .

हलासन को करने से होते हैं ये 16 गजब फायदे

1. पेट की चर्बी को कम करने के लिए

हलासन पेट की चर्बी को कम करने के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद और उपयोगी आसन होता है . इसको नियमित करने से पेट की चर्बी बहुत ही तेजी से कम होती है और आपका वजन नियंत्रित रहता है .


2. बालों के लिए फायदेमंद

हलासन को करने से खून का बहाव सिर के क्षेत्र की तरफ ज्यादा होने लगता है जिस वजह से यह बालों के लिए एक बहुत ही अच्छा आसन माना जाता है . इसको करने से बाल मजबूत और घने होते हैं .

3. चेहरे पर निखार लाने के लिए

हलासन चेहरे पर निखार लाने के लिए एक बहुत ही अच्छा आसन माना जाता है . इस आसन को करने से खून का बहाव हमारे चेहरे की तरफ भी होता है जिस वजह से हमारे चेहरे में मौजूद गंदे खून को साफ करता है और चेहरे पर निखार लाता है .

4. थायराइड की बीमारी को ठीक करने के लिए

हलासन थायराइड और पैरा थायराइड ग्रंथि और को बहुत ही ज्यादा उत्तेजित कर देता है जिस वजह से यह थायराइड की बीमारी को बहुत ही जल्दी और तेजी से खत्म करता है . अगर किसी व्यक्ति को थायराइड की बीमारी है तो उस व्यक्ति को हलासन जरूर करना चाहिए .

5. कब्ज को ठीक करने के लिए

हलासन को करने से हमारी पेट की मांसपेशियों और नसों पर खींचा पड़ता है जिस वजह से यह कब्ज की बीमारी को ठीक करने के लिए एक बहुत ही अच्छा आसन माना जाता है .

6. बवासीर की बीमारी को ठीक करने के लिए

हलासन बवासीर की बीमारी को ठीक करने के लिए बहुत ही अच्छा और कारगर आसन माना जाता है . अगर किसी व्यक्ति को बवासीर की बीमारी है तो उस व्यक्ति को नियमित रूप से इस आसन को जरूर करना चाहिए .

7. मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित करने के लिए

हलासन शरीर के मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करने के लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी होता है इस को नियमित करने से शरीर की कई बीमारियां दूर हो जाती हैं .

8. डायबिटीज की बीमारी को ठीक करने के लिए

हलासन डायबिटीज की बीमारी को ठीक करने के लिए बहुत ही अच्छा और कारगर आसन माना जाता है . क्योंकि इस आसन को करने से शरीर में मौजूद इंसुलिन की मात्रा बढ़ने लगती है और खून में मौजूद अधिक शर्करा की मात्रा कम होने लगती है जिस वजह से डायबिटीज धीरे धीरे कम होने लगती है .

9. शरीर और सिर दर्द को ठीक करने के लिए

जिन लोगों को शरीर और सिरदर्द की बहुत ही ज्यादा शिकायत रहती है उन लोगों को हलासन नियमित रूप से जरूर करना चाहिए क्योंकि हलासन को करने से खून का बहाव हमारे सिर के क्षेत्र में होता है जिस वजह से सिर दर्द में भी राहत मिलती है .

10. तंत्रिका तंत्र को ठीक रखने के लिए

हलासन तंत्रिका तंत्र को ठीक रखने के लिए एक बहुत ही अच्छा आसन है यह किसी भी व्यक्ति को ज्यादा स्ट्रेस और थकान से दूर रखता है और आपके शरीर में चुस्ती और फुर्ती बनाए रखता है .

11. लीवर की बीमारी को ठीक करने के लिए

हलासन लीवर की बीमारी को ठीक करने के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है . अगर किसी व्यक्ति का लीवर खराब हो रहा है जिस वजह से उसे सही से भूख नहीं लग पा रही है उस व्यक्ति को इस आसन को नियमित रूप से जरूर करना चाहिए .

12. नाड़ी तंत्र शुद्ध करने के

हलासन नाड़ी तंत्र शुद्ध बनाता है . शरीर बलवान और तेजस्वी बनाता है लीवर और plha बढ़ गए हो तो हलासन से सामान्य अवस्था में आ जाते हैं .


13. अनिद्रा बीमारी को ठीक करने के लिए

जो लोग अनिद्रा बीमारी से परेशान है और इस वजह से उन लोगों को रात के समय नींद नहीं आती है उन लोगों को हलासन नियमित रूप से जरूर करना चाहिए .

14. बांझपन को दूर करने के लिए

हलासन एक ऐसा आसन है जो किसी भी महिला के बांझपन को दूर करने के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है . अगर कोई महिला ऐसी है जिसे यह लगता है कि उसको बच्चा नहीं हो सकता है तो उस महिला को हलासन नियमित रूप से जरूर करना चाहिए इसे करने से उस महिला को इसका फायदा जरूर मिलेगा .

15. दमा की बीमारी को ठीक करने के लिए

हलासन को करने से हमारी गर्दन की मांसपेशियों पर काफी खिंचाव पड़ता है और थायराइड ग्रंथि भी उत्तेजित हो जाती है जिस वजह से उस व्यक्ति को दमा जैसी बीमारी नहीं होती है और अगर किसी व्यक्ति को दमा की समस्या है तो उस व्यक्ति को इस आसन को जरूर करना चाहिए .

16. ब्लड सरकुलेशन को ठीक रखने के लिए

हलासन ब्लड सरकुलेशन को नियंत्रित रखने के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक और फायदेमंद होता है . यह शरीर में ब्लड सरकुलेशन को ठीक रखने के अलावा आपके ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है .

हलासन को करते वक्त यह सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए .

दोस्तों हर आसन को करते वक्त सावधानियां जरूर बरतनी चाहिए और इसलिए हलासन को करते वक्त भी कुछ सावधानियां जरूर बरतनी होंगी .

1. सर्वाइकल

हलासन उन व्यक्तियों को बिल्कुल नहीं करना चाहिए जिनको सर्वाइकल की समस्या होती है .

2. रीढ़ की हड्डी में अकड़न

हलासन उन व्यक्तियों को बिल्कुल नहीं करना चाहिए जिनकी रीढ़ की हड्डी में अकड़न होती है  जिन्हें उठने बैठने में बहुत ज्यादा परेशानी होती है उन्हें बिल्कुल नहीं करनी चाहिए .


3. हाई ब्लड प्रेशर

जो लोग हाई ब्लड प्रेशर के मरीज हैं उन लोगों को भी हलासन नहीं करना चाहिए और अगर किसी व्यक्ति को कमर में दर्द है तो उसे बिल्कुल नहीं करना चाहिए .

4. चक्कर आना

अगर किसी व्यक्ति को इस आसन को करते वक्त चक्कर आते हैं तो उसे इस आसन को बिल्कुल नहीं करना चाहिए .

5. गर्भावस्था

हलासन गर्भावस्था के दौरान भी किसी महिला को बिल्कुल नहीं करना चाहिए .

6. दिल की बीमारी

अगर किसी व्यक्ति या महिला को दिल की बीमारी है तो उनको भी हलासन बिल्कुल नहीं करना चाहिए .
Also Read:-
Previous
Next Post »