जायफल के इस्तेमाल से दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

0
61
जायफल के इस्तेमाल से होते हैं दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग
जायफल के इस्तेमाल से होते हैं दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग
जायफल के इस्तेमाल से होते हैं दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

जायफल के इस्तेमाल से होते हैं दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

जायफल: जायफल की 80 प्रजातियां मानी जाती है और यह भारत और मालदीव में कुल 30 प्रजातियां पाई जाती हैं. जायफल मूल रूप से एशिया महाद्वीप के पूर्व में स्थित है. जायफल दो तरह के होते हैं नर और मादा. मादा जाति के जायफल के फूल छोटी-छोटी पत्तियों पर आते हैं. और पत्ते भाले के जैसे जोड़े होते हैं. नर जाति के जायफल के पत्ते बड़े होते हैं .इन पत्तों को मसलने से कुछ सुगंध आती है .इन पेड़ों पर फूल तो होते हैं पर पुष्प कोष नहीं होता.

जायफल वैसे तो लोग पूजा की सामग्री में उपयोग करते हैं. और कुछ लोग जायफल का उपयोग सब्जी को स्वादिष्ट बनाने में करते हैं. लेकिन आपको बता दें कि जायफल का उपयोग दवाई बनाने में काफी पुराने समय से किया जाता रहा है. यह शरीर की कई बीमारियों को दूर करने में सक्षम है. इसके अंदर कई तरह के ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं जिनके इस्तेमाल से कई बीमारियां आसानी से ठीक हो जाती हैं. और आज हम आपको जायफल के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताएंगे जिनकी वजह से आप तरह की बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं. इसके लिए आपको इन चीजो की आवश्यकता होगी.

जायफल के इस्तेमाल से होते हैं दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग
जायफल के इस्तेमाल से होते हैं दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

यह भी पढ़ें

Periods के दौरान डाइट में शामिल करें ये फूड, दर्द से मिलेगा छुटकारा.

जायफल चूर्ण लगभग आधा ग्राम से 1 ग्राम लेना है और जायफल का तेल एक से तीन बूंद तक इस्तेमाल करना है.

अन्य सामग्री

तिल का तेल 200 मिलीलीटर, दो कप पानी,5 से 6 जायफल की आवश्यकता होगी.

मिश्रण बनाने की विधि

सबसे पहले जायफल को दो कप पानी में अच्छी तरह से घीस लें. फिर उसे 200 मिलीलीटर तिल के तेल में अच्छी तरह से गर्म करें. और जब यह ठंडा हो जाए तो आप इससे कमर की मालिश कर सकते हैं. इसकी मालिश करने से कमर दर्द से आसानी से छुटकारा मिल जाता है. पान में जायफल का टुकड़ा डालकर खाने, जायफल को पानी में घिसकर बने लैब को गरम-गरम कमर पर लगाने से कमर दर्द में काफी आराम मिलता है. जायफल को घिसकर इसका रात के समय कमर पर लेप करने से कमर दर्द ठीक हो जाता है.

एक भाग जायफल का तेल और 4 भाग सरसों का तेल दोनों को आपस में मिला कर जोड़ों के दर्द, सूजन और मोच पर दो-तीन बार अच्छी तरह से मालिश करें.इससे जोड़ों के दर्द में काफी ज्यादा आराम मिलेगा. आपको बता दें कि अगर कोई व्यक्ति ज्यादा जायफल का उपयोग करता है तो उस व्यक्ति को नशीले पदार्थ जैसा अनुभव हो सकता है इसलिए इसका ज्यादा उपयोग करना भी नुकसानदायक हो सकता है. इसके अलावा चक्कर आना, बांझपन, यकृत और फेफड़ों पर दुष्प्रभाव होना, सिर दर्द और बेहोशी तक उत्पन्न हो सकती है. गर्भ प्रकृति वाली महिलाओं को इसका सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए.

यह भी पढ़ें

READ  नपुंसकता की बीमारी के कारण, नपुंसकता की बीमारी को खत्म करने के उपाए .

जायफल के इस्तेमाल के अन्य फायदे

सुबह सुबह आधा चम्मच जायफल चाटने से किसी भी व्यक्ति को गैस्ट्रिक और सर्दी, खांसी की समस्या नहीं होती है.

पेट में दर्द

अगर किसी व्यक्ति को पेट में दर्द होता है तो वह व्यक्ति जायफल के तेल के 4 से 5 बूंदे चीनी के साथ लेने से पेट दर्द में काफी ज्यादा आराम मिलता है.

जायफल सिर में दर्द को ठीक करने के लिए

अगर कोई व्यक्ति या महिला जो अपने सिर दर्द से बहुत ज्यादा परेशान है और वह हर तरह के उपाय करके देख चुका है तथा उस व्यक्ति को किसी भी तरह से कोई फायदा नहीं मिल पा रहा हो, तो वह व्यक्ति जो फल को पानी में घिसकर उसके लिए अपने माथे पर लगाएं. ऐसा करने से उस व्यक्ति के सिर का दर्द बहुत ही तेजी से ठीक हो जाएगा.

सर्दी से बचने के लिए जायफल है उपयोगी 

जिन लोगों को ज्यादा सर्दी लगती है वह लोग सर्दी के दिनों में एक चुटकी जायफल को अपने मुंह में रखकररस पीते रहे . और यह काम आप लोग पूरे जाड़े 1 या 2 दिन के अंतराल में करते रहे. ऐसा करने से आपके जाड़े आसानी से कट जाएंगे और आपको किसी भी तरह की कोई बीमारी से परेशान नहीं होना पड़ेगा. ठंड के मौसम में आप लोग इसे एक बार जरुर करके देखें आपको जरूर फायदा मिलेगा.जायफल के इस्तेमाल से दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

यह भी पढ़ें

सर्वाइकल के दर्द से छुटकारा पाने के बेहतरीन घरेलू उपचार

भूख ना लगने की समस्या को ठीक करने के लिए करे जायफल का ऐसे उपयोग 

यदि किसी व्यक्ति या महिला को किसी कारणवश भूख नहीं लग रही है तो आप लोग एक चुटकी जायफल को अपने मुंह में रख कर उसका रस पिएं. ऐसा करने से आपके शरीर में पाचक रस की वृद्धि होगी. और बहुजन अच्छी तरह पच पाएगा.  दस्त आ रहे हो या फिर या पेट दर्द कर रहा हो तो छोटे से जायफल को लेकर उसके चार हिस्से कर दें एक हिस्सा मरीज को अपने मुंह में रखने के लिए और खाने के लिए कह दीजिए. और सुबह तथा शाम जायफल के उस टुकड़े को खिलाते रहे.

जायफल फटी एड़ियों के लिए है फायदेमंद 

फटी एड़ियों के लिए इसे बहुत बारीक पीसकर अपनी फटी एड़ियों की दरारों में भर दीजिए. ऐसा करने से 12 से 15 दिनों में ही आपकी फटी एड़ियां ठीक हो जाएंगी.

हृदय को मजबूत बनाने के लिए जायफल के लाभ 

जायफल का चूर्ण शहद के साथ लेने से हृदय मजबूत होता है.  पेट भी ठीक रहता है अगर कान के पीछे कुछ ऐसी गांठ बन गई हो जो छूने पर दर्द करती हो तो जायफल को पीसकर उसका लेप उस जगह पर लगाएं. ऐसा करने से वह गांठ जल्दी ठीक हो जाएगी.जायफल के इस्तेमाल से दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

हैजा की बीमारी को भी ठीक करता है जायफल 

अगर किसी हैजा वाले रोगी को बार-बार प्यास लग रही है तो जायफल को पानी में घिसकर उस पानी को हैजा वाले व्यक्ति को पिला दीजिए. ऐसा करने से हैजा रोग जल्दी ठीक हो जाता है.

यह भी पढ़ें

Anulom Vilom, Anulom Vilom 20 Benefits in Hindi

READ  गुड़ खाने से होते है ये अद्भुत और अविश्वसनीय फायदे

जायफल जी मिचलाने की समस्या को ठीक करें

अगर किसी महिला का जी मिचला रहा है तो वह महिला इसको थोड़ा सा पानी में घिसकर उस पानी को पीने से जी मिचलाने की समस्या ठीक हो जाती है तथा दिमाग को काफी आराम मिलता है.

आँखों की हर एक समस्या से छुटकारा दिलाता है जायफल

जायफल को पानी के साथ थोड़ा सा गैस कर आंख में लगाने से आंखों की रोशनी काफी अधिक बढ़ जाती है. यह उपाय उन लोगों के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है जिनकी आंखों की रोशनी कमजोर होती है तथा उन बच्चों के लिए फायदेमंद होता है जिनकी आंखें शुरुआत में ही कमजोर हो जाती हैं .अगर वह लोग इस उपाय को करते हैं तो उन लोगों की आंखों की रोशनी कमजोर नहीं होगी तथा आंखों की ज्योति बढ़ जाएगी. और आंख की खुजली तथा धुंधलापन खत्म हो जाता है.जायफल के इस्तेमाल से दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

जायफल त्वचा के लिए फायदेमंद

जायफल, काली मिर्च और लाल चंदन को बराबर मात्रा में अच्छी तरह से मिलाकर उस मिश्रण को चेहरे पर लगाने से चेहरे की चमक बढ़ती है मुंहासे खत्म हो जाते हैं. तथा उन्हें जल्दी बुढ़ापा नहीं आता है क्योंकि झुरिया और फाइन लाइन दिखना बंद हो जाती है.जायफल के इस्तेमाल से दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

यह भी पढ़ें

अस्थमा, अस्थमा के लक्षण और अस्थमा को ठीक करने के घरेलू उपाए .

पेशाब की समस्या में फायदेमंद है जायफल 

यदि किसी व्यक्ति को बार बार पेशाब जाना पड़ता है तो उस व्यक्ति को जायफल और सफेद मूसली कि 2 से 3 ग्राम मात्रा में मिलाकर उस व्यक्ति को पानी से लेने के लिए कहे. यह दिन में एक बार खाली पेट 10 दिन लगातार लेना है. ऐसा करने से बार-बार पेशाब जाने की समस्या में काफी आराम मिलेगा.

दांत के दर्द को ठीक करने के लिए

अगर किसी व्यक्ति को दांत का दर्द बहुत ज्यादा परेशान कर रहा है और वह व्यक्ति दांत के दर्द की वजह से ना तो कुछ खा पा रहा है और ना ही वह ठीक से कोई काम कर पा रहा है तो वह व्यक्ति जायफल के तेल को रुई की मदद अपने दर्द वाली जगह पर लगा कर रख ले और जो उसका थूक निकले वह उस थूक को बहार थूकता रहे .ऐसा करने से दांत के दर्द में काफी ज्यादा आराम मिलेगा. अगर किसी व्यक्ति या बच्चे के पेट में कीड़े हो रहे हैं तो वह भी मर जाएंगे.जायफल के इस्तेमाल से दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

यह भी पढ़ें

READ  नीम के तेल से होते हैं ये 14 गजब फायदे, एक बार जरुर पढ़ें

नपुंसकता की बीमारी के कारण, नपुंसकता की बीमारी को खत्म करने के उपाए .

पेट के दर्द को ठीक करने के लिए फायदेमंद

अगर किसी व्यक्ति या महिला को पेट दर्द हो रहा है और वह असहनीय दर्द है. तो उन्हें जायफल के तेल की दो से तीन बूंदे बतासी में टपका कर उसे खा ले. ऐसा करने से पेट दर्द की समस्या में बहुत ही जल्दी आराम मिलेगा.जायफल के इस्तेमाल से दूर हो जाते हैं ये 16 भयंकर रोग

जायफल मुंह के छालों को ठीक करने के लिए

किसी व्यक्ति या बच्चों को मुंह के छाले की समस्या हो रही है और वह ठीक होने का नाम नहीं ले रही, तो उस व्यक्ति को जायफल को पानी में डालकर गर्म करके उस पानी से गरारे करने से या कुल्ला करने से मुंह के छाले तेज से ठीक हो जाते हैं इसके अलावा गले की सूजन भी ठीक हो जाएगी.

जायफल मुहांसे की समस्या से छुटकारा दिलाएं

जायफल को कच्चे दूध में किस कर चेहरे पर लगाने से मुंहासे की समस्या ठीक हो जाती है तथा चेहरे की झुर्रियां डार्क सर्कल और अन्य त्वचा से संबंधित रोग भी ठीक हो जाते है और चेहरा निखर जाएगा.

यह भी पढ़ें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here